Home UP BOARD Question Papers NCERT Solutions CBSE Papers CBSE Notes NCERT Books CBSE Syllabus

Sample Paper Class 10 Hindi A 2018 2019 2020 Standard CBSE Board U Like Arhint

Here we are providing CBSE Previous Year Question Papers Class 6 to 12 solved with soutions Sample Paper Class 10 Hindi A 2018 2019 2020 Standard CBSE Board U Like Arhint class 10 Hindi A sample paper 2020 solved, sample paper class 10 Hindi A, cbse class 10 Hindi A question paper 2018, sample paper class 10 Hindi A 2019, Hindi A question paper for class 10, cbse previous year question papers class 10 Hindi A, cbse sa Practice of previous year question papers and sample papers protects each and every student to score bad marks in exams.If any student of CBSE Board continuously practices last year question paper student will easily score high marks in tests. Fortunately earlier year question papers can assist the understudies with scoring great in the tests. Unraveling previous year question paper class 10 Hindi A is significant for understudies who will show up for Class 10 Board tests.

Class 10 Subject Hindi A Paper Set 5 with Solutions

खंड - ’क’


प्रश्न 1

निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

लाखों वर्षों से मधुमक्खी जिस तरह छत्ता बनाती आई है बैसे ही बनाती है । उसमें फेर-बदल करना उसके लिए संभव नहीं है । छत्ता तो त्रुटिहीन बनता है लेकिन मधुमक्खी अपने अभ्यास के दायरे में आबद्ध रहती है । इस तरह सभी प्राणियों के संबंध में प्रकृति के व्यवहार में साहस का अभाव दिखाई पड़ता है । ऐसा लगता है कि प्रकृति ने उन्हें अपने आँचल में सुरक्षित रखा है, उन्हें विपत्तियों से बचाने के लिए उनकी आंतरिक गतिशीलता को ही प्रकृति ने घटा दिया है ।

लेकिन सृष्टिकर्ता ने मनुष्य की रचना करने में अदूभुत साहस का परिचय दिया है । उसने मानव के अंतःकरण को बाधाहीन बनाया है । हालाँकि बाह्य रूप से उसे विवस्त्र, निरस्त्र और दुर्बल बनाकर उसके चित्त को स्वच्छंदता प्रदान की है । इस मुक्ति से आनंदित होकर मनुष्य कहता है - “हम असाध्य को संभव बनाएँगे ।” अर्थात्‌ जो सदा से होता आया है और होता रहेगा, हम उससे संतुष्ट नहीं रहेंगे । जो कभी नहीं हुआ, वह हमारे द्वारा होगा | इसीलिए मनुष्य ने अपने इतिहास के प्रथम युग में जब प्रचंडकाय प्राणियों के भीषण नखदंतों का सामना किया तो उसने हिरण की तरह पलायन करना नहीं चाहा, न कछुए की तरह छिपना चाहा । उसने असाध्य लगने वाले कार्य को सिद्ध किया - पत्थरों को काटकर भीषणतर नखदंतों का निर्माण किया । प्राणियों के नखदंत की उन्नति केवल प्राकृतिक कारणों पर निर्भर होती है । लेकिन मनुष्य के ये नखदंत उसकी अपनी सृष्टि क्रिया से निर्मित थे । इसलिए आगे चलकर उसने पत्थरों को छोड़कर लोहे के हथियार बनाए । इससे यह प्रमाणित होता है कि मानवीय अंतःकरण संधानशील है । उसके चारों ओर जो कुछ है उस पर ही वह आसक्त नहीं हो जाता । जो उसके हाथ में नहीं है उस पर अधिकार जमाना चाहता है । पत्थर उसके सामने रखा है पर वह उससे संतुष्ट नहीं । लोहा धरती के नीचे है, मानव उसे बहाँ से बाहर निकालता है । पत्थर को घिसकर हथियार बनाना आसान है लेकिन वह लोहे को गलाकर, साँचे में डाल ढालकर, हथौड़े से पीटकर, सब बाधाओं को पार करके, उसे अपने अधीन बनाता है । मनुष्य के अंतःकरण का धर्म यही है कि वह परिश्रम से केवल सफलता ही नहीं बल्कि आनंद भी प्राप्त करता है।

(क) मनुष्य की भीतरी और बाहरी बनावट किस प्रकार की है?


उत्तर -

(ख) “असाध्य को संभव’ बनाने का क्‍या अर्थ है ? स्पष्ट कीजिए ।


उत्तर -

(ग) मुष्येतर प्राणियों की रचना में ’प्रकृति के साहस का अभाव का क्या आशय है ? सोदाहरण स्पष्ट कीजिए ।


उत्तर -

(घ) मनुष्य ने लोहे के हथियार पाने के लिए क्या मेहनत की और क्यों ?


उत्तर - ध्ररती के नीचे से लोहा निकाला, गलाया, साँचे में डालकर ढाला, हथौड़े से पीटा और हथियार बनाया;

(ड) परिश्रम से क्या प्राप्त होता है?


उत्तर - सपफलता और आनंद

(च) उपर्युक्त गद्यांश के लिए एक उपयुक्त शीर्षक दीजिए।


उत्तर - अद्भुत प्रकृति / अद्भुत सृष्टि

(अन्य उपयुक्त शीर्षक भी स्वीकार्य)

खंड - ’ख’


प्रश्न 2

निर्देशानुसार उत्तर लिखिए -

(क) सब कुछ हो चुका था, सिर्फ नाक नहीं थी। (रचना के आधर पर वाक्य-भेद पहचानकर लिखिए)


उत्तर - संयुक्त वाक्य

(ख) थोड़ी देर में मिठाई की दुकान बढ़ाकर हम लोग घरौंदा बनाते थे। (मिश्र वाक्य में बदलकर लिखिए)


उत्तर - थोड़ी देर में जब हम लोग मिठाई की दुकान बढ़ा देते तब घरौंदा बनाते।

(ग) जब हम बनावटी चिड़ियों को चट कर जाते, तब बाबूजी खेलने के लिए ले जाते। (आश्रित उपवाक्य पहचानकर लिखिए और उसका भेद भी लिखिए)


उत्तर - आश्रित उपवाक्य - जब हम बनावटी चिड़ियों को चट कर जाते

भेद - क्रियाविशेषण आश्रित उपवाक्य

(घ) कानाफूसी हुई और मूर्तिकार को इजाज़त दे दी गई। (सरल वाक्य में बदलिए)


उत्तर - मूर्तिकार को कानापूफसी के बाद इजाज़त दे दी गई। /

कानापूफसी होने के बाद मूर्तिकार को इजाज़त दे दी गई।


प्रश्न 3

निर्देशानुसार वाच्य-परिवर्तन करके लिखिए -

(क) कैप्टन चश्मा बदल देता था। (कर्मवाच्य में)


उत्तर - वैफप्टन द्वारा चश्मा बदल दिया जाता था।

(ख) इस दिन दालमंडी में शहनाई बजाई जाती थी। (कर्तृवाच्य में)


उत्तर - इस दिन दालमंडी में शहनाई बजाते थे।

(ग) वे आज रात यहीं ठहरेंगे। (भाववाच्य में)


उत्तर - उनसे आज रात यहीं ठहरा जाएगा।

(घ) अब सोया नहीं जाता। (कर्तृवाच्य में)


उत्तर - अब सो नहीं पाता / सकता।


प्रश्न 4

निम्नलिखित वाक्यों के रेखांकित पदों का पद-परिचय लिखिएः

(पद नाम सही होने पर ही अन्य एक बिंदु पर पूरे अंक दिए जाएँ)

(क) किसी का ताज़ा चित्र नहीं छपा था।


उत्तर - नहीं - क्रियाविशेषण (रीतिवाचक) ‘छपा’ क्रिया की विशेषता

(ख) तीसरी बार फिर से नया चश्मा था।


उत्तर - नया - विशेषण (गुणवाचक), पुल्लिंग, एकवचन, ‘चश्मा’ - विशेष्य

(ग) यह सब मैंने केवल सुना


उत्तर - सुना - क्रिया (सकर्मक), एकवचन, पुल्लिंग, भूतकाल

(घ) मान लीजिए कि पुराने ज़माने में एक भी स्त्री पढ़ी-लिखी न होती।


उत्तर - स्त्री - संज्ञा (जातिवाचक), एकवचन, स्त्राीलिंग, कर्ता कारक


प्रश्न 5

निम्नलिखित में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर लिखिए -

(क) ‘वीर रस’ का एक उदाहरण लिखिए।


उत्तर - वीर रस का कोई भी एक उपयुक्त उदाहरण स्वीकार्य।

(ख) घृणा का भाव उत्पन्न करने वाले काव्य में कौन-सा रस होगा?


उत्तर - वीभत्स रस

(ग) ‘ शृंगार रस’ के दो भेद कौन-से हैं?


उत्तर - संयोग और वियोग

(घ) निम्नलिखित काव्य-पंक्तियों में रस पहचानकर रस का नाम लिखिए:

वह लता वहीं की, जहाँ कली

तू खिली, स्नेह से हिली, पली

अंत भी उसी गोद में शरण

ली, मूदें दृग वर महामरण!


उत्तर - करुण रस

(ड) उद्दीपन किसे कहते हैं?


उत्तर - जो सहृदय के भावों को उद्दीप्त कर

खंड - ’ग’


प्रश्न 6

निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए है :

खाँ साहब को बड़ी शिद्दत से कमी खलती है । अब संगतियों के लिए गायकों के मन में कोई आदर नहीं रहा । खाँ साहब अफ़सोस जताते हैं । अब घंटों रियाज़ को कौन पूछता है ? हैरान हैं बिस्मिल्ला खाँ । कहाँ वह कजली, चैती और अदब का ज़माना ?

सचमुच हैरान करती है काशी-पक्का महाल से जैसे मलाई बरफ़ गया, संगीत, साहित्य और अदब की बहुत सारी परंपराएँ लुप्त हो गई । एक सच्चे सुर-साधक और सामाजिक की भाँति बिस्मिल्ला खाँ साहब को इन सबकी कमी खलती है । काशी में जिस तरह बाबा विश्वनाथ और बिस्मिल्ला खाँ एक-दूसरे के पूरक रहे हैं, उसी तरह मुहर्रम-ताज़िया और होली-अबीर, गुलाल की गंगा-जमुनी संस्कृति भी एक-दूसरे के पूरक रहे हैं ।

(क) संगीत की कौन-सी परंपराएँ बदलते समय के अनुसार विलुप्त हो गईं ?


उत्तर -

(कोई दो बिंदु अपेक्षित)

(ख) बाबा विश्वनाथ और बिस्मिल्ला खाँ को एक-दूसरे का पूरक क्यों कहा गया है?


उत्तर -

(ग) “गंगा-जमुनी संस्कृति’ से आप क्‍या समझते हैं ? उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए ।


उत्तर -

(अन्य उपयुक्त उदाहरण भी स्वीकार्य)


प्रश्न 7

निम्नलिखित में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में लिखिए -

(क) हालदार साहब और कैप्टन के चरित्र की दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।


उत्तर -

(ख) ‘‘पतनशील सामंती समाज झूठी शान के लिए जीता है’’ - ‘लखनवी अंदाज़’ पाठ के आधर पर स्पष्ट कीजिए।


उत्तर -

(कोई दो बिंदु अपेक्षित)

(ग) ‘‘भगत की पुत्रवधू और भगत दोनों एक-दुसरे की हित-चिंता में ज़िद पर अड़े थे’’ - पुष्टि कीजिए।


उत्तर -

(घ) ‘मानवीय करुणा की दिव्य चमक’ पाठ के आधर पर इलाहाबाद के साहित्यिक परिवेश का वर्णन कीजिए।


उत्तर - ‘परिमल’ समूह की सक्रियता, गोष्ठियाँ, परस्पर साहित्यिक परिचर्चा, वाद-विवाद, प्रस्तुतियाँ आदि

(ड) ‘‘विद्यार्थी जीवन में योग्य शिक्षक सही दिशा दिखाने वाले मार्गदर्शक होते हैं’’ - ‘एक कहानी यह भी’ के आधर पर स्पष्ट कीजिए।


उत्तर -


प्रश्न 8

निम्नलिखित काव्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए -

तुम्हारी यह दंतुरित मुसकान

मृतक में भी दाल देगी जान

धूलि-धूसर तुम्हारे ये गात...

छोड़कर तालाब मेरी झोंपड़ी में खिल रहे जलजात

परस पाकर तुम्हारा ही प्राण,

पिघलकर जल बन गया होगा कठिन पाषण

छू गया तुमसे की झरने लग पड़े शेफालिका के फूल

बाँस था की बबूल?

तुम मुझे पाए नहीं पहचान?

देखते ही रहोगे अनिमेष!

(क) ‘मृतक में जान डालने’ और ‘पाषाण के पिघलकर जल बनने’ का आशय स्पष्ट कीजिए।


उत्तर -

(ख) अनिमेष देखने का अर्थ स्पष्ट करते हुए लिखिए कि छोटे बच्चे ऐसा क्यों करते हैं?


उत्तर -

(ग) शेपफालिका के फूल झरने का क्या तात्पर्य है? कवि बाँस या बबूल की संज्ञा किसे दे रहा है और क्यों?


उत्तर -

(कवि का अपने बारे में यह सोचना कि बाँस या बबूल की तरह उसमें कौन-से काँटे हैं, जिससे बच्चे की यह हालत हुई)


प्रश्न 9

निम्नलिखित में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में लिखिए -

(क) ‘राम-लक्ष्मण-परशुराम संवाद’ में संवाद लक्ष्मण और परशुराम के बीच चल रहा था जबकि राम मूकदर्शी थे। राम का मौन उनके स्वभाव की कौन-सी विशेषताओं को उजागर करता है?


उत्तर - शांत, विनम्र, धीर-गंभीर, मर्यादित, बड़ों का सम्मान, मितभाषी आदि

(ख) ‘उत्साह’ कविता में कवि का कोमल हृदय और क्रांतिकारी रूप दोनों दिखते हैं, यह कैसे कहा जा सकता है?


उत्तर -

(दोनों भागों के लिए दो-दो बिंदु अपेक्षित)

(ग) ‘मृगतृष्णा’ से आप क्या समझते हैं? ‘छाया मत छूना’ में वह किस अर्थ में प्रयुक्त हुआ है?


उत्तर -

(घ) ‘‘ ‘संगतकार’ की मनुष्यता उसका निर्धरित कर्तव्य ही है, न कि कोई महानता’’ - इससे सहमत या असहमत होते हुए तर्क सहित अपने विचार व्यक्त कीजिए।


उत्तर - (संदर्भगत मुक्त उत्तर पर अंक दिए जाएँ।)

(ड) गोपियों के माध्यम से सूरदास ने निर्गुण भक्ति पर कृष्ण-भक्ति को बेहतर साबित किया है - इस पर टिप्पणी कीजिए।


उत्तर -


प्रश्न 10

निम्नलिखित में से किन्हीं दो प्रश्नों के उत्तर लगभग 50-60 शब्दों में लिखिए -

(क) ‘माता का अँचल’ पाठ में वर्णित खेलों से आज के खेल कितने अलग हैं, इसका तुलनात्मक वर्णन कीजिए।


उत्तर - पाठ में वर्णित खेल - ग्रामीण परिवेश से जुड़कर उपलब्ध सामग्री से खेलते हैं, खेती-बारी का खेल, दुकानदार-ग्राहक का खेल, बरात का जुलूस, घरौंदा बनाना आज के खेल - कंप्यूटर-मोबाइल के खेल खेले जाते हैं। (आधुनिक तकनीक पर निर्भर) - क्रिकेट, फुटबाॅल आदि

(अन्य उपयुक्त उत्तर पर भी अंक दें)

(ख) पहाड़ी लोगों का जीवन मैदानी जीवन से अधिक संघर्षपूर्ण होता है। ‘साना-साना हाथ जोड़ी’ पाठ के आधर पर उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।


उत्तर - उदाहरण -

(उपर्युक्त किन्हीं तीन बिंदुओं का विस्तार अपेक्षित)

(ग) ‘‘ ‘जाॅर्ज पंचम की नाक’ में मूर्तिकार एक अवसरवादी व्यक्ति है जो सबको मूर्ख बनाकर अपना उल्लू साध् रहा है।’’ तर्स हित पुष्टि कीजिए।


उत्तर - नए-नए स्वार्थपूर्ण सुझाव - मूर्ति के लिए पत्थर की तलाश, पत्थर की नाक की तलाश के बहाने पैसे ऐंठना और सैर-सपाटा करना

(अन्य उपयुक्त तर्क पर भी अंक दें)

खंड - ’घ’


प्रश्न 11

निम्नलिखित में स े किसी एक विषय पर दिए गए

संवेफत-बिन्दुओं वेफ आधर पर लगभग 200-250 शब्दों में निबंध लिखिए -

(क) विद्यालयों की ज़िम्मेदारी - बेहतर नागरिक-बोध्

(ख) सोशल मीडिया और किशोर

(ग) यात्राएँ: अनुभव के नए क्षितिज


उत्तर -

निबंध्-लेखन


प्रश्न 12

आप एक रिश्तेदार को देखने किसी अस्पताल में गए और वहाँ रख-रखाव और सफाई में बहुत सारी कमियाँ दिखीं। ध्यान दिलाने पर कर्मचारियों ने दुव्र्यवहार किया। इसकी शिकायत मुख्य-चिकित्सा अधिकारी से करते हुए उचित कार्रवाई करने की माँग करते हुए 80-100 शब्दों में पत्र लिखकर कीजिए।

अथवा

किसी मुद्दे पर आपका अपने मित्र से मतभेद हो गया है। उसे 80-100 शब्दों में पत्र लिखकर अपना पक्ष स्पष्ट करते हुए बताइए कि यह मित्रता आपके लिए क्या महत्व रखती है।


उत्तर -

पत्र-लेखन


प्रश्न 13

सर्व शिक्षा अभियान के तहत ‘वयस्क साक्षरता मिशन 2020’ के लिए एक विज्ञापन 25-50 शब्दों में तैयार कीजिए।

अथवा

आपकी पुरानी साइकिल अब आपके लिए छोटी पड़ रही है। उसे बेचने के लिए कोई आकर्षक विज्ञापन 25-50 शब्दों में तैयार कीजिए।


उत्तर -

विज्ञापन-लेखन

☞ Click here for privious year Question papers

Sample Paper Class 10 Hindi A 2018 2019 2020 Standard CBSE Board U Like Arhint

class 10 Hindi A sample paper 2020 solved, sample paper class 10 Hindi A, cbse class 10 Hindi A question paper 2018, sample paper class 10 Hindi A 2019, Hindi A question paper for class 10, cbse previous year question papers class 10 Hindi A, cbse sample paper for class 10 Hindi A, cbse class 10 Hindi A question paper 2019, class 10 Hindi A sample paper 2019 solved, cbse class 10th Hindi A question paper, 10th Hindi A question paper, sample paper class 10 Hindi A 2020, Hindi A sample paper class 12, cbse question paper for class 9 Hindi A, cbse Hindi A sample paper, cbse 10th class Hindi A

Ncert Solution for class 6 to 12 download in pdf

CBSE Model test papars Download in pdf

NCERT Books Free Pdf Download for Class 5, 6, 7, 8, 9, 10 , 11, 12 Hindi and English Medium

Mathematics Biology Psychology
Chemistry English Economics
Sociology Hindi Business Studies
Geography Science Political Science
Statistics Physics Accountancy

CBSE Syllabus Class 6 to 9, 10, 11, 12 Maths, Science, Hindi, English ...

Last year CBSE Question paper for Class 6 to 9, 10, 11, 12 Maths, Science, Hindi, English ...

Important Links

Follow Us On

Face book page ncerthelp twitter page youtube page linkdin page

Revised Syllabus for Class 12

Please Share this webpage on facebook, whatsapp, linkdin and twitter.

Facebook Twitter whatsapp Linkdin

Copyright @ ncerthelp.com A free educational website for CBSE, ICSE and UP board.